Friday, January 27, 2023
Homeमध्यप्रदेश की खबरेबाघेश्वर धाम सरकार पं.धीरेन्द्र शास्त्री ने नागपुर में मिली चुनवती का दिया...

बाघेश्वर धाम सरकार पं.धीरेन्द्र शास्त्री ने नागपुर में मिली चुनवती का दिया जवाब

देश के सर्व श्रेष्ठ कथा वाचक पंडित धीरेन्द्र शास्त्री पाए अंधविश्वास और चमत्कार कोलेकर चर्चाओं में बने रहते है बीते कुछ दिनों से लगातार लगा रहे आरोप पर जवाब देते हुए धीरेन्द्र शास्त्री ने नागपुर में मिली चुनवती को किया स्वीकार,बाघेश्वर धाम सरकार ने मिडिया को बताते हुए कहा-वेलकम टू यू रायपुर दरबार, मैं उनका चैलेंज एक्सेप्ट करता हूं।यहां रायपुर आए, आने-जाने के टिकट का खर्च मैं दूंगा, मैं कोई संत नहीं हूं, जैसे को तैसा जवाब देता हूं,

बाघेश्वर धाम सरकार पं.धीरेन्द्र शास्त्री ने नागपुर में मिली चुनवती का दिया जवाब

साथ ही कहा आरोप लगाना छोटी सोच और विकलांग मानसिकता के लोगो का काम है मुझे बदनाम काने का प्रयास किया जा रहा है,नागपुर से जाने की वजह अपने गुरु के जन्म दिवस पर पूजन यज्ञ करना बताया। हम अंधविश्वास के पक्षकार नहीं हैं, हमारे ईष्ट लोगों की समस्या को दूर करते हैं, क्या हनुमान जी की पूजा करना उनका प्रचार करना गलत है? बताता दे बाघेश्वर धाम के धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री को आपने नाम,मोबाइल नंबर दूसरे कमरे में राखी करीब 10 वस्तुओ को बताने के साथ 30 लाख की चुनवाती दी थी

Read aLSO: बागेश्वर धाम सरकार धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री एक बार फिर विवादों से घिरे,देखिये क्या पूरा मामला

गुढ़ियारी हनुमान मंदिर मैदान पर रामकथा के लिए आए बागेश्वर धाम के नाम से प्रसिद्ध पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री महाराज ने चमत्कार, अंधश्रद्धा को लेकर नागपुर में मिली चुनौती को स्वीकार कर लिया है। मीडिया से बातचीत में बुधवार को उन्होंने कहा- वेलकम टू यू रायपुर दरबार, मैं उनका चैलेंज एक्सेप्ट करता हूं। रायपुर में चुनौती स्वीकार करता हूं, श्याम यहां रायपुर आए, आने-जाने के टिकट का खर्च मैं दूंगा, मैं कोई संत नहीं हूं, जैसे को तैसा जवाब देता हूं, हमें बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं।
आरोप लगाने वाले छोटी मानसिकता के लोग हैं। हमने सब जगह दो-दो दिन की कथा कम की है, क्योकि हमारे गुरु महराज का जन्मदिन था और आगे हमारे यहां फरवरी में यज्ञ है। रायपुर में भी दो दिन कथा के कम किए गए हैं। हमारा दावा नहीं कि हम आपकी समस्या को मिटा देंगे, हमें अपने ईष्ट पर भरोसा है। हम अंधविश्वास के पक्षकार नहीं हैं, हमारे ईष्ट लोगों की समस्या को दूर करते हैं, क्या हनुमान जी की पूजा करना उनका प्रचार करना गलत है?

बाघेश्वर धाम सरकार पं.धीरेन्द्र शास्त्री ने नागपुर में मिली चुनवती का दिया जवाब

यह थी चुनौती

दरअसल इससे पहले नागपुर में श्रीराम कथा का आयोजन हुआ था, जिसमें अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति के संस्थापक श्याम मानव ने आरोप लगाया कि वो लोगों को मूर्ख बनाने का काम कर रहे हैं। अगर वो चमत्कार दिखाते हैं, तो वो उनको 30 लाख रुपए देंगे। महाराज को नाम, आयु, मोबाइल नंबर और दूसरे रूम में रखी 10 वस्तुओं के नाम बताने पर 30 लाख रुपए देने की चुनौती दी थी, ले

RELATED ARTICLES

Most Popular