Friday, January 27, 2023
Homeरोचक तथ्यहोठो पर लगाने वाली लिपिस्टिक के पीछे का 5000 साल पुराना राज...

होठो पर लगाने वाली लिपिस्टिक के पीछे का 5000 साल पुराना राज जानकर आप हो सकते हो बेहोश

होठो पर लगाने वाली लिपिस्टिक के पीछे का 5000 साल पुराना राज जानकर आप हो सकते हो बेहोश, महिलाओ की सुंदरता का मुख्य कारण होठो पर लगी लिपस्टिक होती है क्या आप जानते है की होठो पर लगने वाली ये लिपिस्टिक के पीछे का 5 हजार साल पुराना राज अगर नहीं तो आप पढ़िए पूरी खबर जो आपको इस रहस्य से कराएगी रूबरू!

होठो पर लगाने वाली लिपिस्टिक के पीछे का 5000 साल पुराना राज ( 5000 year old secret behind lipstick)

होठो पर लगाने वाली लिपिस्टिक के पीछे का 5000 साल पुराना राज जानकर आप हो सकते हो बेहोश

कामसूत्र में है लिपस्टिक का वर्णन ( Lipstick is described in Kamasutra)
नहीं-नहीं ये लाइन पढ़कर नाक भौं ना सिकोड़िए यहां तो हम बस लिपस्टिक के वर्णन की बात करते हैं। महर्षि वात्स्यायन द्वारा रचा गया कामसूत्र एक पौराणिक काव्य है और इसमें होंठों को रंगने के लिए लाल लाख, मोम और फलों के रस के बारे में बताया गया है। उस दौर में भी होंठों को आकर्षक बनाने के लिए इस तरह की चीजों का इस्तेमाल किया जाता था।

Read Also: Old Note: बंद किस्मत की चाबी बनेगा ये दस का नोट आपके भविष्य को उज्वल बनाने में निभाएगा अहम भूमिका,लाखो रूपये का तगड़ा खेल

रत्नों से सुसज्जित होंठ थे सुंदरता की पहचान ( Lips decorated with gems were the hallmark of beauty)
कुछ अन्य लेख मानते हैं कि सुमेरियन समाज जब फल-फूल रहा था तब होंठों को सजाने के लिए महिलाएं रत्नों को पीसकर लगाती थीं ताकि उनके होंठ सुंदर लगें। कुछ जगहों पर फलों के रस और फूलों का भी जिक्र है, लेकिन होंठों की सुंदरता को बढ़ाने के लिए हमेशा ही लाल रंग को महत्व दिया गया है।

क्लियोपेट्रा भी करती थी लिपस्टिक का इस्तेमाल ( Cleopatra also used lipstick)
आपको हम पहले ही क्लियोपेट्रा के बारे में फैक्ट्स बता चुके हैं जिसमें ये बताया गया था कि क्लियोपेट्रा का एक पर्सनल स्टाइलिस्ट भी था जो उसकी आंखों के काजल को लगाता था। हालांकि, हम तो क्लियोपेट्रा के जमाने में थे नहीं तो ये कही और सुनी बातें ही हैं।माना जाता है कि अपने होंठों को सजाने के लिए 5000 साल पहले क्लियोपेट्रा और उस दौर की इजिप्शियन (यूनानी) महिलाएं कीड़ों को मारकर उन्हें पीसकर एक पेस्ट बनाती थीं जिससे होंठों को रंगने का काम किया जाता था। इसी तरह से उस दौरान पारे का इस्तेमाल भी साज-सज्जा में किया जाता था।

5000 साल पुराना राज जानकर आप हो सकते हो बेहोश ( You may faint after knowing 5000 year old secret)

कब हुआ हार्ड लिपस्टिक का आविष्कार ( When was hard lipstick invented?)
9वीं सदी में अरब वैज्ञानिक Abulcasis को सॉलिड लिपस्टिक का आविष्कारक माना जाता है। उन्होंने पहले परफ्यूम के साथ काफी आविष्कार किए और उसे प्रेस करके एक मोल्ड में डालने की कोशिश की। इसके बाद उसने इसी तरीके से रंगों को बनाया और तब सॉलिड लिपस्टिक का आविष्कार हुआ।

लिपस्टिक की चाह रखने वाली महिलाओं को समझा जाने लगा था चुड़ैल ( Women who wanted lipstick were considered witches)
नहीं-नहीं महिलाएं चुड़ैल नहीं होती हैं, ये तो उस दौरान की मान्यता थी। कुछ कट्टर धर्मों जैसे कैथोलिक और इस्लाम में लिपस्टिक या किसी अन्य मेकअप को गलत समझा जाने लगा था। एक समय ऐसा आया था जब लाल होंठों को शैतान से जोड़कर देखा जाता था और इसलिए लिपस्टिक लगाने वाली महिलाओं को चुड़ैल या डायन कहा जाने लगा था। इसके अलावा एक वो दौर भी आया था जब लिपस्टिक को प्रॉस्टिट्यूट्स से जोड़कर देखा जाता था। जब तक क्वीन एलिजाबेथ ने खुद लिपस्टिक लगाना नहीं शुरू किया था तब तक इसे लेकर कुछ ऐसी ही धारणा थी।

महारानी एलिजाबेथ का मेकअप ( queen elizabeth makeup)
ब्रिटेन की क्वीन एलिजाबेथ 1 अपने मेकअप के लिए सफेद चूना और मर्करी का इस्तेमाल करती थीं। माना जाता है कि उनके चेहरे पर बहुत से दाग थे जिसे कवर करने के लिए ये किया जाता था। उस समय फाउंडेशन तो होता नहीं था और इसलिए वो चूना इस्तेमाल करती थीं।महारानी एलिजाबेथ अपने चेहरे को पूरी तरह से सफेद कर लेती थीं और उसपर लाल रंग की लिपस्टिक लगाई जाती थी। वैसे उस दौरान लिपस्टिक में भी पारा इस्तेमाल किया जाता था और इसलिए ये सुरक्षित नहीं होती थी, लेकिन सुंदरता की चाह में महिलाएं इसे इस्तेमाल जरूर करती थीं।

कैसे हुआ मॉर्डन लिपस्टिक का आविष्कार ( How modern lipstick was invented)
1884 में फ्रेंच परफ्यूम कंपनी गुलेरियन वो पहली कंपनी थी जिसने लिपस्टिक को कमर्शियली बेचना शुरू किया था। इसमें बी वैक्स, कैस्टर ऑयल और हिरण के फैट का इस्तेमाल कर लिपस्टिक बनाई गई थी और इसे सिल्क पेपर में रैप करके बेचा जाता था।1920 के दशक तक लिपस्टिक ने महिलाओं की जिंदगी में एक परमानेंट स्थान बना लिया था। 1923 में जेम्स ब्रूस मेसन जूनियर ने लिपस्टिक का घूमने वाला सिलेंडर बनाया जिससे अभी मॉर्डन लिपस्टिक बनी है। ये वो दौर था जब महिलाएं इक्वालिटी मांग रही थी और फेमिनिज्म ने पहली अंगड़ाई ली थी। हेलेना रूबिंस्टीन ने क्यूपिड बो लिपस्टिक बनाई थी जो लिप्स के शेप का भी ध्यान रखती थी।इसके बाद धीरे-धीरे लिपस्टिक का आविष्कार और भी ज्यादा बेहतर होता गया और मॉर्डन समय में कितनी कंपनियां किस तरह से कितनी लिपस्टिक बना रही हैं वो तो हमने देखा ही है। तो जी इस तरह से धीरे-धीरे कई हजार सालों में बनी है आपकी फेवरेट लिपस्टिक।

RELATED ARTICLES

Most Popular