Friday, January 27, 2023
Homeदेश-विदेश की खबरेंPM की मां होते हुए भी बहुत सादगी से जिंदगी जीती थी...

PM की मां होते हुए भी बहुत सादगी से जिंदगी जीती थी हीरा बा,हीरा बा के लिए 6 बच्चों में सबसे खास थे PM मोदी

PM मोदी की मां हीरा बा का आज 100 साल की उम्र में निधन हो गया है. आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मां से बहुत ही ज्यादा जुड़े हुए थे और अपनी छुट्टियों में वह अक्सर अहमदाबाद अपनी मां से मिलने जाया करते थे.

प्रधानमंत्री मोदी की मां होते हुए भी हीराबेन सादगी से जिंदगी जीती थी और दिखावे में बिल्कुल भी भरोसा नहीं करती थी. हीराबेन का सादगी से जिंदगी जीना हर किसी को एक नई सीख देता है.

PM की मां होते हुए भी बहुत सादगी से जिंदगी जीती थी हीरा बा,हीरा बा के लिए 6 बच्चों में सबसे खास थे PM मोदी

PM की मां होते हुए भी बहुत सादगी से जिंदगी जीती थी हीरा बा,हीरा बा के लिए 6 बच्चों में सबसे खास थे PM मोदी

आपने अक्सर ऐसा देखा होगा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां कभी-कभी ही बेटे के साथ मंच पर दिखती थी. हीराबेन दिखावे की जिंदगी से काफी अलग रहती थी और वह अपनी जिंदगी बहुत ही सादगी से जीती थी और भगवान के भक्ति में लगी रहती थी.

पहले सवाल यानी मां को अपने साथ नहीं रखने के सवाल पर PM मोदी ने अपने एक इंटरव्यू में कहा था, ”पहली बात तो यह कि अगर मैं प्रधानमंत्री बनकर घर से निकला होता तो स्वभाविक रूप से मेरा भी मन करता कि मां और परिवार के साथ रहूं. मैं जिंदगी की बहुत छोटी आयु में सबकुछ छोड़ चुका हूं. इसलिए लगाव या मोह-माया नहीं रख पाया. दूसरी बात यह है कि मैंने मां को अपने साथ बुला लिया था, काफी दिन उनके साथ बिताए भी थे.

PM की मां होते हुए भी बहुत सादगी से जिंदगी जीती थी हीरा बा,हीरा बा के लिए 6 बच्चों में सबसे खास थे PM मोदी

लेकिन मां ही मुझसे कहती रहीं कि तुम मेरे पीछे क्यों समय खराब करते हो. मैं तुम्हारे साथ रहकर यहां क्या करूंगी? जबकि वहां यानी गांव के घर में तो लोगों से मिलना-जुलना होता रहता है. तीसरी बात यह कि मैं भी उनको समय नहीं दे पाता था. काम में ही लगा रहता था. एकाध बार उनके साथ में खाना खा लेता था. फिर मुझे ही दर्द महसूस होता था कि मैं रात को 12 बजे आता हूं और मां इंतजार करती करती हैं.”

PM की मां होते हुए भी बहुत सादगी से जिंदगी जीती थी हीरा बा,हीरा बा के लिए 6 बच्चों में सबसे खास थे PM मोदी

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी के 6 भाई बहन हैं लेकिन उनकी मां का उनसे सबसे ज्यादा लगाव था. प्रधानमंत्री की मां अक्षर उनको आशीर्वाद दिया करती थी और कहती थी कि जनता का आशीर्वाद तेरे साथ है तू बहुत ही ईमानदारी से काम करना.

Also Read:PM Modi Japan Visit:पीएम मोदी जापान यात्रा पीएम मोदी ने जापानी पीएम से की मुलाकात, शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल हुए

श्रीनगर से लौटा बेटा तो सम्मान समारोह में आईं मां

एक बार मैं जब ‘एकता यात्रा’ के बाद श्रीनगर के लाल चौक पर तिरंगा फहरा कर लौटा था, तो अहमदाबाद में हुए नागरिक सम्मान कार्यक्रम में मां ने मंच पर आकर मेरा टीका किया था. मां के लिए वो बहुत भावुक पल इसलिए भी था, क्योंकि एकता यात्रा के दौरान फगवाड़ा में एक हमला हुआ था, उसमें कुछ लोग मारे भी गए थे. उस समय मां मुझे लेकर बहुत चिंता में थीं. तब मेरे पास दो लोगों का फोन आया था. एक अक्षरधाम मंदिर के श्रद्धेय प्रमुख स्वामी जी का और दूसरा फोन मेरी मां का था. मां को मेरा हाल जानकर कुछ तसल्ली हुई थी.

PM की मां होते हुए भी बहुत सादगी से जिंदगी जीती थी हीरा बा,हीरा बा के लिए 6 बच्चों में सबसे खास थे PM मोदी

मुझे एक और वाकया याद आ रहा है. जब मैं CM बना था तो मेरे मन में इच्छा थी कि अपने सभी शिक्षकों का सार्वजनिक रूप से सम्मान करूं. मेरे मन में ये भी था कि मां तो मेरी सबसे बड़ी शिक्षक रही हैं, उनका भी सम्मान होना चाहिए. हमारे शास्त्रों में कहा भी गया है- माता से बड़ा कोई गुरु नहीं है- ‘नास्ति मातृ समो गुरुः.’ इसलिए मैंने मां से भी कहा था कि आप भी मंच पर आइएगा. लेकिन उन्होंने कहा, ”देख भाई, मैं तो निमित्त मात्र हूं. तुम्हारा मेरी कोख से जन्म लेना लिखा हुआ था. तुम्हें मैंने नहीं, भगवान ने गढ़ा है.” ये कहकर मां उस कार्यक्रम में नहीं आई थीं. मेरे सभी शिक्षक आए थे, लेकिन मां उस कार्यक्रम से दूर ही रहीं.”

RELATED ARTICLES

Most Popular